‘‘सच्चाई-निर्भिकता, प्रेम-विनम्रता, विरोध-दबंगता, खुशी-दिल
से और विचार-स्वतंत्र अभिव्यक्त होने पर ही प्रभावी होते है’’
Powered by Blogger.
 

आजादी की दूसरी लड़ाई… तैयार हो भाई !!!

16 comments



आजादी की दूसरी लड़ाई… तैयार हो भाई !!!

अजादी की दूसरी लड़ाई लड़ी जा रही है । यह लड़ाई अब उन अपनों से है जिन्हें हमने भरोसे के साथ सत्ता पर बिठाया । इस भरोसे के साथ कि भारत को सोने की चिड़िया माना गया , तुम सब इसकी हिफ़ाजत करना , इसे स्वस्थ - तंदरुस्त - मजबूत रखना और आगे बढ़ाते रहना । लेकिन हमारे अपनों ने हमसे ही बेईमानी की , सोने की चिड़िया को सम्हालना छोड़ उसके सारे पंख ही भ्रष्टाचार की हमलावर - आक्रामक ऊंगलियों से नोच डाले । बेहद शर्मनाक काम किया , इतना ही नहीं इससे भी ज्यादा शर्मनाक काम तो वह किया कि देश की जनता को "बाहरी लोग" कह डाला प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने । अर्थात सत्ता और उस बैठे नेता-अफ़सर अंदर के शेष देश बाहरी हो गया , ऐसी घिनौनी सोच तो अंग्रेजों की भी नहीं थी , जो विशुद्ध रूप से लूटने ही आये थे भारत को ! समय है एक जुट हो कर हम सब को , सारे देश को सड़क पर उतर कर भ्रट आचरण करने वालों को नेस्तनाबूत करने की । अपने देश को बचाने की । अन्ना हजारे एक ऐसे अखण्ड दीप क नाम है जो एक पवित्र उद्देश्य के लिए प्रज्जवलित हुआ है  एक - एक दीप हमें भी बनना होगा तभी मिटेगा हमारे घर का अंधियारा , और तभी जगमगा उठेगा हमारा घर । लेकिन हमें अपने अपने घरों - दफ़्तरों - दुकानों से निकल कर सड़क पर आना होगा - आंदोलन में अपनी जीवंत भूमिका का निर्वाह कर होगा । यह ज्यादा जरूरी है । जय हिन्द - जय भारत ।
- आशुतोष मिश्र , रायपुर , छत्तीसगढ़ । संपर्क - 094242 02729.
 

16 Responses so far.

  1. हम सब का समर्थन अन्ना के साथ है।

  2. आज अन्ना जी ने जो कम किया है उसको आपने अच्छे शब्द दिए है !मेरे ब्लॉग पर आये ! हवे अ गुड डे !
    Music Bol
    Lyrics Mantra
    Shayari Dil Se

  3. हम सब अन्ना जी के साथ हैं.

  4. आपकी उम्दा प्रस्तुति कल शनिवार (09.04.2011) को "चर्चा मंच" पर प्रस्तुत की गयी है।आप आये और आकर अपने विचारों से हमे अवगत कराये......"ॐ साई राम" at http://charchamanch.blogspot.com/
    चर्चाकार:Er. सत्यम शिवम (शनिवासरीय चर्चा)

  5. मालिक जनता का यदि एक भी नागरिक यदि सरकार से असंतुष्ट है तो नौकर सरकार को चाहिए की वो उसे संतुष्ट करे..
    पर यहाँ तो सारे के सारे १२१ करोड़ मालिक सरकार नौकर के द्वारा की जा रही सेवा से असंतुष्ट है..
    फिर सरकार को नौकरी में रखने का क्या फायदा ?? निकाल फेंको ऐसे चोर - उचक्के नौकरों को...

  6. Anonymous says:

    we are with anna

  7. Anonymous says:

    Hello! I just wanted to take the time to make a comment and say I have really enjoyed reading your blog.

  8. Anonymous says:

    sucio en su puesto fue expulsada por el sueno de,

 
Swatantra Vichar © 2013-14 DheTemplate.com & Main Blogger .

स्वतंत्र मीडिया समूह