‘‘सच्चाई-निर्भिकता, प्रेम-विनम्रता, विरोध-दबंगता, खुशी-दिल
से और विचार-स्वतंत्र अभिव्यक्त होने पर ही प्रभावी होते है’’
Powered by Blogger.
 

देश मंे ”राजनीति“ पर कब ”वास्तविक“ ”स्वाभाविक“ ”स्वीकारिताकारक“ ”प्रतिक्रिया“ होगी ?

6 comments

राजीव खण्डेलवाल: 
        हाल ही में देश में दो बडी राजनैतिक लोकतांत्रिक घटनाऐं घटी है जिसकी सत्यता से इस देश का कोई भी नागरिक इंकार नही कर सकता है। पहली नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में स्वतंत्र भारत के इतिहास में एक गैर कांग्रेसी पार्टी की 2014 के लोकसभा के चुनाव में ऐतिहासिक विजय एवं दूसरा नीतीश कुमार का नरेन्द्र मोदी की उक्त विजय की आंधी में हुई निर्णायक हार के कारण, नैतिकता के आधार पर दिया गया इस्तीफा। उपरोक्त दोनो घटनाओं पर देश में विपक्षी पक्षो ने जो प्रतिक्रियाये व्यक्त की, उससे निश्चित रूप से  एक आम नागरिक को निराशा ही हुई है, जो स्वस्थ लोकतंत्र की निशानी नही हैं।
        नरेन्द्र मोदी की जीत निसंदेह समस्त खिलाफत के बावजूद एक निर्णायात्मक जनादेश है जिसको  समस्त भागीदार पक्षो ने हृदय की गहराईयो से स्वीकार कर, स्वागत कर विपक्षी पक्ष केा अगले पांच सालो के लिए जनता के बीच जाकर अपनी खोई हुई विश्वनीयता को प्राप्त करने का प्रयास करना चाहिए, बजाय इसके कि उपरोक्त जनादेश में नुक्ताचीनी करे, खामियां निकाले व जनादेश को स्वीकार न करे।
        इसी प्रकार नीतीश कुमार ने जिस दिन नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दिया तो उनके विरोधियो ने यह प्रतिक्रिया दी थी की नीतीश कुमार नौंटंकी कर रहे है। विधायको को भावनात्मक रूप से ब्लेकमेल मेल कर रहे है और  अगले दिन होने वाली विधायक दल की बैठक में वे पुनः नेता चुने जायेगे और फिर से मुख्यंमंत्री बन जायेगे। दूसरे दिन जब विधायक दल ने सर्वसम्मिति से नीतीश कुमार को नेता माना व उनका इस्तीफा अस्वीकार कर दिया गया तब भारी मान मनौवल के बावजूद नीतीश कुमार ने इस्तीफा वापस लेने से स्पष्ट इंकार कर दिया और  एक दिन विचार के लिये समय मांगा व नये मुख्यमंत्री चुनने के संकेत दिये तब भी उनकी आलोचना की गई।  जब अगले दिन नीतीश कुमार ने नये मुख्यमंत्री के रूप में महादलित नेता जीतनराम मांझी  की घोषणा मुख्यमंत्री के रूप में की गई तब फिर उन्हीे विरोधियो ने उन पर यह आरोप लगाया कि दलित कार्ड खेलकर रिमोट कंटोल द्वारा नीतीश कुमार अगले वर्ष होने वाले चुनाव के लिए चुनावी कार्ड का खेल खेल रहे है। आखिरकार राजनीति में यदि एक व्यक्ति सही कदम उठाना चाहता है, करना चाहता है और यदि वह वास्तव में ऐसा करता है तो उसे विरोधी पक्ष द्वारा खुले हृदय से प्रोत्साहित क्यो नही किया जाता है ? आज की राजनीति का यही एक महत्वपूर्ण प्रश्न है?
         यदि नीतीश कुमार विधायको के अनुरोध के दबाव के आगे अपना इस्तीफा वापस ले लेते तब उन्हे उनके विरोधी नौटंकी करार सिद्ध करते और जब इस्तीफा वापस नही लिया तब भी उन्हे नौटंकीकार करार सिद्ध कर रहे है। चुनाव में हार के बाद यदि इस्तीफा नही देते तब यही कहा जाता कि जनादेश की भावना के विपरीत मुख्यमंत्री कुर्सी से चिपके रहे। आखिर नीतीश केा क्या करना चाहिए था जिसकी एक स्वाभाविक सकारात्मक प्रतिक्रिया राजनैतिक क्षेत्र में होती ? शायद हमारे देश में अभी तक उक्त स्तर की स्वस्थ राजनीति नही आई है। इसलिए ''राजनीति'' के इस गलियारे मे चलने वाले हर ''राजनीति के रंग से गढे'' कदम की ''प्रतिक्रिया'' ''राजनीति''के तरीके से ही होते रहेगी। देश राज्य और समाज के हितो का ध्यान बिल्कुल नही रहेगा, ऐसा वर्तमान राजनैतिक व्यवस्था के देखने से लगता है।

6 Responses so far.

  1. Anonymous says:

    We encountered significant numbers of stage 2 and 3 zombies.
    Inevitably clash of clans hack is usually misunderstood by those
    a lot of reliant on technology, obviously. In this particular essay I will consider the interpersonal,
    economic and political factors of clash of clans hack tool no survey.


    Check out my blog: Clash of Clans Cheats

  2. Anonymous says:

    What's up tօ every bodу, it's my first pay a ѵisit of this web site; this web site contaіns
    remarkable and actually excellent data in fvor of readerѕ.


    Also visit my blоg post; bisnis properti; ,

  3. Anonymous says:

    ϒou can certainly see your expertise within the work yoou write.
    The world hopes for even more paѕsaionate writers suxh aѕ you who aren't afraid to mеntion how they believe.
    Alll the time follow your heart.

    Here iis my ѡeb-site :: sided crib safe

  4. Anonymous says:

    I don't know whether it's just me or if everybody else experiencing problems with
    your site. It seems like some of the written text in your content are running off
    the screen. Can someone else please provide feedback and let me
    know if this is happening to them too? This might be a
    issue with my web browser because I've had this happen before.
    Kudos

    my weblog ... healthy meal plans for weight loss

  5. Anonymous says:

    That is very interesting, You are a very professional blogger.
    I have joined your rss feed and stay up for in quest of extra of your great post.

    Additionally, I've shared your web site in my social
    networks

    Feel free to surf to my web blog: colon cleanse detox

  6. Anonymous says:

    Heya i am for the primary time here. I came across this board and I in finding
    It truly helpful & it helped me out much. I am hoping to provide something back and aid others such as you aided me.


    Also visit my site; nike air max 1 nd

 
Swatantra Vichar © 2013-14 DheTemplate.com & Main Blogger .

स्वतंत्र मीडिया समूह